Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views :

Zika Virus in Hindi – जीका वायरस की जानकारी हिंदी में

/
/
225 Views

जीका वायरस की पूरी जानकारी हिंदी में – Zika Virus information in Hindi

Zika Virus infomation in Hindi – ब्राजील सहित विश्वभर के 15 देशों में फैले Zika Virus / जीका वायरस का खतरा भारत को भी है। डेंगू मच्छर से फैलने वाले एडिस मच्छरों की भरमार है भारत में। इसके साथ-साथ ब्राजील जैसे देशों से पर्यटकों का आना और जाना भी लगा हुआ है। इस वायरस का सबसे ज्यादा असर गर्भवती (Pregnant) महिलाओं पर होता है। इसलिए ब्राजील ने अपने देश की महिलाओं को अगले 5 से 6 महीने तक बच्चे पैदा नहीं करने की सलाह दी है।

Detail of Zika Virus in Hindi – जीका विषाणु से मृत्यु भले ही कम होती है। लेकिन अगर प्रेग्नेंट स्त्रीयों में इस “Zika Virus” का अटैक हो जाता है। तो यह बच्चे में न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर का खतरा पैदा करता है। जिससे दिमाग के विकास पर असर पड़ता है। दूसरी ओर आईएमए (IMA) ने भारत देश के लोगों से जीका वायरस (Zika Virus) वाले देशों में यात्रा न करने की अपील की है।

Zika Virus in Hindi – जीका वायरस की जानकारी हिंदी में

Zika Virus in Hindi

एडिस मच्छरों से यह रोग फैलता है

वायरस एक्सपर्ट डॉक्टर नरेंद्र सैनी ने कहा कि यह वायरस डेंगू के एडिस मच्छर से फैलता है। ये मच्छर भारत में हर राज्यों में हैं। खासकर राजधानी में Dengue का Aedes Mosquito (एडिस मच्छर) हर वर्ष आफत बनता है। ऐसे में अगर जीका वायरस का Source भारत में भी आ गया तो….. ज्यादा परेशानी बढ़ सकती है।

Zika Virus in Hindi – डॉक्टर सैनी का कहना है की अभी यह Virus देशवासियों के लिए नया है। इसलिए इसकी बॉडी में तुरंत ऐंटी-बॉडी भी नहीं बनेगी और इसका अटैक ज्यादा खतरनाक होगा। हालांकि आईएमए के महासचिव डॉक्टर के. के. अग्रवाल ने कहा कि इस वायरस से जान का खतरा नहीं है, लेकिन यह जिस गर्भवती महिला को हो जाता है, उसके गर्भ में पल रहे बच्चे में इसका असर होता है।

अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने चेतावनी दी है कि जीका वायरस के कारण बच्चों में जन्मजात माइक्रोसिफेली की बीमारी आ सकती है। इससे प्रभावित बच्चों का सिर छोटा रह जाने से उनके Brain में समस्या हो सकती है।

इन लक्षणों से पहचानें – Zika Virus Symptoms in Hindi

जीका वायरस से संक्रामित / Infected हर 5 में से 1 व्यक्ति में ही इसके लक्षण (Symptoms) दिखते हैं। वायरस के शिकार लोगों में जॉइंट पेन, बेचैनी, आंखें लाल होना, उल्टी आना जैसे Symptoms यानी Lakshan दिखाई देते हैं। हालांकि इस रोग से पीड़ित कुछ लोगों को हॉस्पिटल में ऐडमिट करने की नौबत आ ही जाती है।

अब तक पकड़ में आए जीका इन्फेक्शन के ज्यादातर मामले जानलेवा नहीं हैं, लेकिन गर्भवती महिलाओं के गर्भ में पल रहे बच्चों को खतरा ज्यादा है। जीका वायरस के मरीज पूरी तरह से बेड रेस्ट लें, अधिक मात्रा में पानी का सेवन करें, शरीर में दर्द होने पर पैरासिटामॉल या एसिटीमिनोफेन लिया जा सकता है, लेकिन ध्यान रहे की इबूप्रोफेन दवा का सेवन न करें।

अभी ईजाद नहीं हुई दवा या वैक्सीन :

अब तक कोई भी Vaccine या Medicine नहीं बनी है, जो Zika Virus / जीका वायरस से बचा सके। फिलहाल तो हर हाल में मच्छरों के काटने से बचना ही एकमात्र उपाय है। जीका वायरस की पहली बार पहचान 1947 में हुई। जीका वायरस ब्राजील में बीते साल मई में पता चला। यहां करीब डेढ़ लाख लोग इस वायरस से प्रभावित हैं।

Zika Virus information in Hindi – अक्टूबर माह तक Zika को लेकर कोई ज्यादा भय भी नहीं था। लेकिन बाद में इस तरह के सबूत मिले कि इस वायरस की वजह से पैदा होने वाले बच्चों में फिजिकल डिफेक्ट और न्यूरोलॉजिकल समस्याएं हैं। अक्टूबर से लेकर अब तक ब्राजील में 3500 से ज्यादा छोटे सिर और अविकसित दिमाग वाले बच्चे पैदा हुए हैं।

एल सेल्वाडोर, कोलंबिया और इक्वेडोर जैसे देशों ने अपने देश की महिलाओं से कहा है कि वे साल 2018 तक गर्भवती होने से परहेज करें। अमेरिका ने भी अपनी महिलाओं को उन देशों में जाने से परहेज करने को कहा है, जहां ये वायरस तेजी से फैल रहे हैं। अमेरिका और दूसरे देश इस वायरस की वैक्सीन बनाने में जुट गए हैं।

Ayurveda in Hindi, Home Remedies in Hindi, Ghrelu upchar, Gharelu Nuskhe, Gharelu ilaj, Ayurvedic ilaj, Ayurvedic upchar, Natural Remedies in Hindi, Zika Virus Symptoms in Hindi,

वाइरस से लड़ने को WHO ने बनाई टीम

जीका वायरस के विस्तृत रूप से फैलने से रोकने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी W.H.O (डब्ल्यूएचओ) ने एक आपातकालीन टीम का गठन किया है। यह टीम तय करेगी की क्या Zika को Ebola की तरह वैश्विक आपातकाल की तरह लिया जाना चाहिए?

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest
error: Content is protected !!