Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views :

Shilajit in Hindi – शिलाजीत क्या है?

/
/
145 Views

Shilajit in Hindi –  आज इस लेख में शिलाजीत के बारे में जानेंगे। आयुर्वेद में शिलाजीत का अलग ही स्थान है। यह एक गुणकारी औषधि है। यह कई बिमारियों में लाभकारी होता है। यह दिखने में तारकोल की तरह होता है। और इसका रंग सफ़ेद और भूरे के बिच में कोई रंग भी हो सकता है। लेकिन अधिकतर शिलाजीत गाढ़ा भूरे रंग का होता है। यह जब सुख जाता है, तो चमकीला हो जाता है।

Shilajeet / Shilajit in Hindi – आयुर्वेद में इसका उपयोग सदियों से होता आ रहा है। इसका इस्तेमाल मनुष्य के मानसिक और शारीरिक ताकत के लिए किया जाता है। शिलाजीत को आयुर्वेद में “ईश्वर का अमृत” नाम दिया गया है। पत्थर के शिलाओं में से शिलाजीत निकलता है, इसीलिए इसको शिलाजीत कहा जाता है। सबसे अधिक यह हिमालय के क्षेत्रों में ही पाया जाता है।


Asphaltum, शिलाजीत का वैज्ञानिक नाम है तथा अंग्रेगी में “Shilajeet” को Vegetable Asphalt और Mineral Pitch कहा जाता है।

शिलाजीत की सम्पूर्ण जानकारी – Shilajit in Hindi

Shilajit in Hindi

Shilajit in Hindi – शुद्ध शिलाजीत का सेवन अगर नियमित रूप से किया जाये। तो इससे शरीर हेल्थी रहता है। यह कड़वा और कसेला होता है। लोग इसका इस्तेमाल ज्यादातर यौन कमजोरी को दूर करने में करते है। शिलाजीत तनाव को कम करने में सहायक होता है। साथ ही साथ दिमाग को भी तेज बनाता है।

यह भी अवश्य पढ़े : दिमाग को तेज बनाने के घरेलु उपाय हिंदी में।
इसे  भी अवश्य पढ़े : तनाव को दूर करने के बेहतरीन घरेलु नुस्खा।

Types of Shilajeet – शिलाजीत के प्रकार

  • स्वर्ण शिलाजीत (वात और पित्तजनित रोगों के लिए असरदार)
  • रजत शिलाजीत (कफ और पित्त के विकारों के लिए असरदार)


  • लौह और ताम्र शिलाजीत (कफ के जरिये हुए बिमारियों के लिए असरदार)

शिलाजीत में मौजूद पोषक तत्व – Shilajit Nutrients

loading…

Shilajit in Hindi – शिलाजीत में कई सारे पोषक तत्व मौजूद है। इसमें मिनरल्स, ट्रेस मिनरल्स और विटामिन नेचुरल रूप में पाए जाते है। साथ ही साथ इसमें Fulvic Acid भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जिसकी वजह से इसमें सभी पोषक तत्व (Nutrients) घुल जाते है। शिलाजीत में अच्छी मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी होता है।

इसके अलावा शिलाजीत में Aromatic Carboxylic Acid, Eldagic Acid, Amino Acid, Triterpenes, Polysaccharides, Sterols, Lignins और Lipids इत्यादि रासायनिक संघटक होता है। जो सेहत के लिहाज से बहुत ही फायदेमंद होता है।

नोट :– ध्यान रहे की इसे कच्चे पत्थर के रूप में सीधे सेवन ना करें।

Loading…

उम्मीद है “Shilajit in Hindi” लेख आपको उपयोगी लगा होगा। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

|धन्यवाद|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest
error: Content is protected !!