Constipation ka ilaj | कब्ज का इलाज | Kabj ka ilaj

/
/
147 Views

Constipation (Kabj) Treatment in Hindi / Urdu

Constipation ka ilaj बीमारियों की जननी कहा जाता है कब्ज / Kabj को, बहुत सारे रोग कब्ज के कारण ही होते है।कब्ज की समस्या हर घर में हो रही है, ये एक ऐसी बीमारी है जो कभी न कभी लगभग प्रतेक लोगो अपने चपेट में ली होगी। मतलब किसी न किसी बन्दे को अपनी जीवन में Kabj / कब्ज जैसी बीमारी का सामना करना पड़ा होगा। अगर सुबह–सुबह अच्छी  तरह से पेट साफ़ ना हो पूरा दिन गड़बड़ हो जाता है। और जो कब्ज से पीडित लोग है वो तरो ताजा महसूस नहीं कर पाते है। Remedies for Constipation in Hindi

Constipation Causes in Hindi / कब्ज होने के कारण

  • Kabj का सबसे बड़ा कारन है हमारा आलश्य, आज के मशीनी युग में हम  ज्यादा निष्क्रिय और आलशी हो गए है।
  • नियमित भोजन न करना और ज्यादा से ज्यादा जंक फ़ूड का सेवन करना।
  • सही तरह से पानी न पीना।
  • जल्दी जल्दी भोजन खाना यानि चबा कर नहीं खाना।


  • शराब का सेवन करने से Constipation होता है।
  • धुम्रपान और तम्बाकू का सेवन करना।
  • तलर पदार्थो का कम सेवन करना।
  • कैल्शियम और आयरन का अधिक सेवन भी Kabj होने का कारण है।

Constipation Symptoms | कब्ज के लक्षण | Kabj ke Lakshan

Kabj ka ilaj इसके साधारण लक्षण है सांसो में बू आना, पेट का फूलना, भूक न लगना, एसिडिटी और सर दर्द आदि सुरुआती लक्षण है। कब्ज / Kabj के कारन ही सुबह-सुबह पेट अच्छी तरह से साफ़ नहीं होता है।  ये किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। Constipation Symptoms.


Constipation Symptoms in Hindi अगर कब्ज हो गया और समय पर कब्ज से छुटकारा नहीं मिला तो अन्य बीमारियों की शुरुआत हो सकती  है जैसे-  फ्रेश होने में दिक्कत होना, जी मचलना, पेट में दर्द, मल का पूरी तरह से बाहर न आना आदि। कब्ज / Kabj से और गंभीर बीमारिया भी हो सकती है जैसे- मधुमेह, मोटापा, ब्लडप्रेसर, जोड़ो में दर्द  आदि।

Kabj ka ilaj कई बार लोग खाने-पिने का ध्यान नहीं रखते है और इसकी वजह से कब्ज और गैस जैसी समस्या हो जाती है।  इसिलए खान-पान हमेशा सही समय और सही तारिके से करना चाहिए । Constipation ka ilaj.

Constipation Kabj ka ilaj

 

  • How To Get Rid Constipation | कब्ज की बीमारी से छुटकारा कैसे पाए

    • अपनी दिनचर्या को नियमित करे और अपने खाने-पीने की आदतों को नियमित करे
    • हलके फुल्के व्यायाम करना चाहिए ताकि हमारा शारीर फिट रहे ।
    • पानी ज्यादा से ज्यादा पिए और गुनगुना पानी पिए ।
    • शराब और धुम्रपान को पूरी तरह से त्याग दे ।

    • भोजन चबा-चबा कर खाये।
    • जिन्हें कब्ज / Kabj की शिकायत है वो सादा भोजन सेवन करे जैसे खिचड़ी, दलिया आदि।
    • तली भुनी और मसालेदार खाने से बचे।

Natural Remedies For Constipation – कब्ज का घरेलु इलाज

  • Kabj ka ilaj सौफ और अंजीर कब्ज की बीमारी को ठीक करने में लाभकारी है।
  • तुंत पाये जाने वाली फल और सब्जिया का सेवन करे जैसे-अलसी के बीज, आलुबुकारे, बिना छिले ही सेब खाए, साबुत अनाज, हरी सब्जिया के पत्ते, फल, अंगूर (पेट साफ़ रखता  है ), मैथी का बीज  आदि।
  • Constipation ka ilaj आप अपने खाने में संतुलित आहार ले उसके साथ हरे पत्तेदार सब्जिया और रेशेदार सब्जियों का उपयोग करे।
  • Kabj ka ilaj अपने भोजन में सलाद को जरुर शामिल करे।
  • Kabj ka ilaj नीबू सबसे लाभदायक है कब्ज में, एक गिलास गुनगुना पानी में नीबू का रस, एक चमच्च शहद और थोडा सा नमक मिला कर सुबह खली पेट पिये आपको लाभ मिलेगा ।
  • Constipation ka ilaj पालक एक ऐसी सब्जी है जो पाचन क्रिया को सुधारती है ।
  • आप शहद को दिन में तिन बार एक-एक चम्मच ले सकते है आपको फायदा होगा।
  • Kabj ka ilaj रात को सोते समय आप गुड का सेवन अवश्य करे।


  • आप आवला का उपयोग भी कर सकते है ये पाचन तंत्र को मजबूत बनता है ।
  • दही खाने से पाचन क्रिया में सुधार आता है क्यूंकि इसमें अच्छे कीटाणु होते है ।
  • Constipation ka ilaj अपने आहार में फलो को जरुर शामिल करे जैसे पपीता, गन्ना, अमरुद, चुकंदर, अंजीर फल आदि।
  • किशमिश और मुनक्का खाने से भी कब्ज की परेशानी दूर होती है ।
  • Kabj ka ilaj रात में आप गरम दूध में अरंडी का तेल मिला कर पिने से राहत मिलती है।

Kabj ka ilaj | कब्ज का इलाज | Constipation Treatment in Hindi

उम्मीद है की, आपको यह लेख उपयोगी लगा होगा। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

एक निवेदन – इस ब्लॉग में दिए गए सभी Health tips in Hindi, Beauty tips in Hindi, Skin Care tips in Hindi, Ayurvedic Treatment, Gharelu Nuskhe, Home Remedies, Healthy Food in Hindi, और Homeopathy इत्यादि लेख को, लोगो के अनुभव के आधार पर तैयार किया गया है। किसी भी रोग में इन उपायों को अजमाने से पहले चिकित्सक (Doctor) की सलाह जरुर लें। ऊपर बताये गए उपाय और नुस्खे को अपने विवेक के आधार पर इस्तेमाल करें। कोई असुविधा होने पर इस ब्लॉग www.hindiayurveda.com की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।

|धन्यवाद|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest

error: Content is protected !!