Tulsi ke Fayde | तुलसी के 29 बेहतरीन फायदे हिंदी में | Holy Basil

/
/
56 Views

Holy Basil / Tulsi ke Fayde आज इस लेख में तुलसी के गुण और उसके फायदे के बारे में जानेंगे। आयुर्वेद में इसे बेहतरीन औषधि के रूप में जाना जाता है। तुलसी का शाब्दिक अर्थ “अतुलनीय पौधा” होता है। भारत में इसका उपयोग प्राचीन काल से होता आ रहा है। भारत में तुलसी की पूजा भी की जाती है। यह कई प्रकार के रोगों से बचाता है। रोजाना नियमित रूप से इसका सेवन किया जाये। जीवनभर रोग मुक्त रहेंगे।

Tulsi ke fayde – तुलसी का पौधा झड़ी के रूप में उगता है। इसकी ऊंचाई लगभग 1 से लेकर 3 फूट तक होता है। इसका वैज्ञानिक नाम “ऑसिमम सैक्टम” है। इसके पत्तियों का आकार आयताकार या अंडाकार दोनों तरह की होती है। इसकी पत्तियां लगभग 1 से 2 इंच लम्बी होती है। साथ ही साथ सुगंधित भी होती है। तुलसी निम्न प्रजाति पाई जाती है। जो इस प्रकार है –

1 ऑसिमम वेसिलिकम मिनिमम।
2 ऑसिमम वेसिलिकम (मरुआ तुलसी) ।
3 ऑसिमम अमेरिकन (काली तुलसी) ।
4 ऑसिमम किलिमंडचेरिकम (कर्पुर तुलसी) ।
5 ऑसिमम ग्रेटीसीकम (वन / राम तुलसी) ।
6 ऑसिमम विरिडी।
7 ऑसिमम सैक्टम।

Tulsi ke Fayde | तुलसी के बेहतरीन फायदे हिंदी में | Holy Basil

Tulsi ke fayde in Hindi – भारत में ऑसिमम सैक्टम को पवित्र माना जाता है। ऑसिमम सैक्टम की 2 मुख्य प्रजाति होती है। पहला कृष्णा तुलसी और दूसरा श्री तुलसी। अगर गुण के दृष्टी से देखा जाये। तो काली तुलसी श्रेष्ट होती है। तुलसी इतना लाभकारी होता है। इसका उपयोग किसी न किसी रूप में होमियोपैथी, यूनानी और ऐलोपैथी इत्यादि में किया जाता है।यह वातावरण को शुद्ध करने का भी काम करता है। ज्यदातर हिन्दू परिवारों के घरों के आँगन में या मुख्य द्वार पर तुलसी का पौधा लगाया जाता है। क्यूंकि इससे नकारात्मक ऊर्जा सकारात्मक ऊर्जा में परिवर्तित हो जाती है।

Holy Basil Benefits in Hindi – यह विश्व का बेहतरीन एंटी-ऑक्सीडेंट है। साथ ही साथ इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इन्फ्लेमेटरी जैसे तत्व पाए जाते है। इसे संजीवनी बूटी के समान बोलना गलत नहीं होगा। सिर्फ तुलसी का पत्ता ही फायदेमंद नहीं होता है। बल्कि तुलसी की शाखाए, जड़ और बीज भी फायदेमंद होता है। यह विभिन्न बिमारियों का रामबाण इलाज है। यह कम कैलोरी वाली जड़ी-बूटी है।

Basil Nutrition in Hindi – इसमें कई सारे पोषक पाए जाते है। जैसे – आयरन, ओमेगा-3 फैट्स, कैल्शियम, मैग्नीशियम, कॉपर, विटामिन ऐ, विटामिन सी और विटामिन के इत्यादि। तो चलिए जानते है – “Holy Basil ke fayde

Tulsi ke fayde

Basil Benefits in Hindi | तुलसी के फायदे | Tulsi ke Fayde

1. Tulsi ke Fayde | Holy Basil Benefits

त्वचा के लिए फायदेमंद – तुलसी का सेवन नियमित रूप से करें। उसके साथ-साथ इसका लेप चेहरे पर लगाये। आप चाहे तो निम्बू का रस भी मिला सकते है। इससे त्वचा का रंग निखरेगा और झाइयां की समय दूर हो जाएगी। क्यूंकि इसमें थाईमोल तत्व होता है, जो त्वचा की समस्या से छुटकारा दिलाता है।

2. Holy Basil Benefits | Tulsi ke Fayde

शीघ्रपतन की समस्या में फायदेमंद – शारीरिक कुछ कमी के कारण जब पुरुषों में शीघ्रपतन की समस्या होने लगती है। शीघ्रपतन से पीड़ित लोग तनाव के शिकार हो जाते है। हालाँकि मानसिक कमजोरी के कारन भी शीघ्रपतन की समस्या होती है। ऐसे में तुलसी आपके बहुत काम का साबित हो सकता है। गाय के गुनगुने दूध के साथ तुलसी के बीज का सेवन करें। आपको अत्यंत फायदा होगा।

यह भी अवश्य पढ़े: शीघ्रपतन का घरेलू उपचार हिंदी में।

3. Tulsi ke Fayde | Holy Basil Benefits

यौन समस्या में लाभकारी – तुलसी न सिर्फ सेक्स क्षमता में वृद्धि करता है। उसके साथ-साथ नपुंसकता की समस्या को भी दूर करता है। इसीलिए नियमित रूप से तुलसी के बीज (Tulsi Seeds) का रोजाना सेवन करें। यौन समस्या से छुटकारा मिलेगा।

इसे भी अवश्य पढ़े : सेक्स क्षमता बढ़ाने वाले फ़ूड की जानकारी हिंदी में।

Basil Benefits in Hindi / तुलसी के फयदे / Tulsi ke fayde

4. Holy Basil Benefits | Tulsi ke Fayde

गर्भधारण की समस्या का उपचार – जिन महिलाओं को गर्भधारण करने में परेशानी होती है। उनके लिए तुलसी बहुत ही फायदेमंद होता है। जब मासिक चक्र आ जाये। तब तुलसी के बीज लगभग 5 ग्राम पानी के साथ सेवन करें। ऐसा सुबह और शाम करें और जबतक पीरियड्स रहे, तबतक करें। जब पीरियड्स ख़त्म हो जाये। तब लगभग 10 ग्राम माजूफल का चूर्ण पानी के साथ सेवन करें। ऐसा 3 तक करें, आपको फायदा होगा।

इसे भी जरुर पढ़े : जल्दी गर्भधारण करने के घरेलु उपाय हिंदी में।

5. Tulsi ke Fayde | Holy Basil Benefits

अनियमित माहवारी की समस्या का इलाज – हर्मोंन्स में गड़बड़ी होना की वजह से अनियमित माहवारी की समस्या होने लगती है। इस परेशानी में तुलसी का बीज फायदेमंद होता है। इससे आपकी मासिक चक्र की अनियमितता दूर हो जाएगी।

6. Holy Basil Benefits | Tulsi ke Fayde

आँखों की परेशानी का उपचार – आँखों की कई समस्या के लिए तुलसी फायदेमंद होता है। जिन्हें रतोंधी की शिकायत है। उन लोगो लगातार 2 सप्ताह तक 2-2 बूंद तुलसी के पत्ते का रस डालने से लाभ मिलता है। ऐसा करने से रतोंधी की समस्या दूर हो जाएगी। साथ ही साथ आँखों का लालपन और पीलापन भी दूर हो जाता है। आप चाहे तो तुलसी के पत्ते का रस का बना काजल तैयार कर लें। इस काजल को लगाने से आँखों की रौशनी में इजाफा होगा।

Benefits of Tulsi in Hindi – Holy Basil ke fayde

7. Tulsi ke Fayde | Holy Basil Benefits

हृदय की समस्या का इलाज – दिल को हेल्थी रखना चाहते है। तब नियमित रूप से तुलसी का सेवन करें। सबसे पहले लगभग 10 तुलसी के पत्ते लीजिये। अब उसमे 4 बादाम और 5 काली मिर्च मिलाकर पीस लीजिये। फिर उसमें शहद मिला लें। अब पानी के साथ सेवन करें। आपको फायदा होगा।

यह भी जरुर पढ़े : दिल को स्वस्थ्य रखने के कुछ बेहतरीन उपाय।

8. Holy Basil Benefits | Tulsi ke Fayde

टीबी और दमा की समस्या का उपचार – जो लोग रोजाना सही रूप से तुलसी के पत्ते का सेवन करते है। उन लोगो दमा और टीबी की शिकायत नहीं होता है। यह उन जीवाणु को बढ़ने से रोकता है, जो दमा और टीबी को बढ़ाता है। सबसे पहले अदरक, तुलसी का पत्ता और शुद्ध शहद मिलाकर काढ़ा तैयार कर लें। अब रोगी को यह काढ़ा पिलाये। इससे दमा और टीबी की समस्या से राहत मिलेगी।

इसे भी अवश्य पढ़े : दमा से बचने के घरेलु उपचार हिंदी में।
यह भी अवश्य पढ़े : टी.बी. रोग का अयुर्बेदिक उपचार हिंदी में।

9. Tulsi ke Fayde | Holy Basil Benefits

उच्च रक्तचाप की समस्या का इलाज – हाई ब्लड प्रेशर (उच्च रक्तचाप) के रोगियों की संख्या दिन बी दिन बढ़ते जा रही है। तुलसी का सेवन आपके लिए लाभकारी होगा। सबसे पहले 4 तुलसी का पत्ता और 2 नीम का पत्ता लीजिये। अब इन पत्तों का रस निकाल लीजिये। अब लगभग 3 से 4 चम्मच पानी के साथ रस का सेवन करें। ऐसा सुबह खली पेट करें, फायदा मिलेगा।

इसे भी जरुर पढ़े : उच्च रक्तचाप की समस्या का घरेलु समाधान हिंदी में।

Basil Benefits in Hindi | तुलसी के अनोखे फायदे | Tulsi ke Fayde

10. Holy Basil Benefits | Tulsi ke Fayde

मलेरिया की बीमारी का उपचार – मलेरिया से हर साल हजारो लोगो की जान चली जाती है। बरसात के मौसम यह समस्या ज्यादा उत्पन्न होती है। तुलसी के प्रयोग से मलेरिया जैसे रोग से बचा जा सकता है। लगभग 4 खड़ी काली मिर्च और 11 तुलसी के पत्ते के साथ मिलाकर सेवन करें। आपको अत्यंत लाभ मिलेगा।

यह भी अवश्य पढ़े : मलेरिया के लक्षण और उपचार की जानकारी हिंदी में।

11. Tulsi ke Fayde | Holy Basil Benefits

कुष्ठ रोग की समस्या का इलाज – कुष्ठ रोग की समस्या में तुलसी का प्रयोग लाभकारी होता है। रोगी को तुलसी के पत्ते का रस पिलाये। इसके अलावा सौंठ और तुलसी के पौधे के जड़ को मिलाकर पीस लें। अब इस मिश्रण को प्रतिदिन कुष्ठ रोगी को पिलाए। घरों के आस-पास तुलसी का पौधा जरुर लगाये। इससे आस-पास के लोगों में कुष्ठ रोग होने की संभावना कम हो जाती है।

12. Holy Basil Benefits | Tulsi ke Fayde

किडनी की पथरी का उपचार – तुलसी उन लोगो के लिए लाभकारी होता है। जो किडनी में पथरी की समस्या से जूझ रहे है। सबसे पहले तुलसी के पत्ते को पानी में डालकर अच्छे से उबाले। फिर छानकर ठंडा करके, उसमें शुद्ध शहद मिलाकर रोगी को पिलाये। ऐसा रोजाना लगभग 6 महीने तक करें। इससे आपको फायदा होगा।

यह भी जरुर पढ़े : किडनी की पथरी (Kidney Stone) का आयुर्वेदिक इलाज हिंदी में।

Tulsi ke Fayde | तुलसी के 29 बेहतरीन फायदे हिंदी में | Holy Basil

उम्मीद है की, आपको यह लेख उपयोगी लगा होगा। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

एक निवेदन – इस ब्लॉग में दिए गए सभी Health tips in Hindi, Beauty tips in Hindi, Skin Care tips in Hindi, Ayurvedic Treatment, Gharelu Nuskhe, Home Remedies, Healthy Food in Hindi, और Homeopathy इत्यादि लेख को, लोगो के अनुभव के आधार पर तैयार किया गया है। किसी भी रोग में इन उपायों को अजमाने से पहले चिकित्सक (Doctor) की सलाह जरुर लें। ऊपर बताये गए उपाय और नुस्खे को अपने विवेक के आधार पर इस्तेमाल करें। कोई असुविधा होने पर इस ब्लॉग www.hindiayurveda.com की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।

|धन्यवाद|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest

error: Content is protected !!