Ayurvedic Medicine for Leucorrhea | श्वेत प्रदर का घरेलु उपचार | Likoria

/
/
60 Views

Ayurvedic Medicine for Leucorrhea / Likoria / लयूकोरिया का ईलाज

Leucorrhea Treatment  in Hindi आज इस लेख में Leukorrhea के बारे में जानेंगे। यह महिलाओं में होने वाला रोग है। ल्यूकोरिया जिसे श्वेत प्रदर या सफ़ेद पानी भी कहा जाता है। यह बीमारी किसी दूसरी बीमारी के कारन होती है। इस रोग में महिलाओं के योनी से सफ़ेद पानी निकलता है। इसकी वजह से योनी में जलन और खुजली होती है। इस कारन बहुत कमजोरी भी लगती है। स्त्रियों में श्वेत प्रदर का रोग होना आम बात है। यह है तो आम रोग लेकिन इसे नजरंदाज करने पर गमभीर रूप ले सकता है।



Leukorrhea दो तरह का होता है – Two type of Leucorrhea

श्वेत प्रदर दो प्रकार का होता है – (1). Implantation Leukorrhea (2). Physiologic Leukorrhea.

Implantation Leucorrhea इसे पैथालॉजिकल ल्यूकोरिया भी कहते है। इस रोग में जो पानी निकलता है, उसका रंग पीला होता है। इसमें खुजली, थकान, पेट में दर्द और कब्ज के लक्षण दिखाई पड़ते है। ऐसी स्थिति में तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें।



Physiologic Leucorrhea ल्यूकोरिया की यह सामान्य अवस्था है। यह स्त्रियों में अत्याधिक यौन उत्साह के कारन या फिर गर्भाअवस्ता के शुरुआती समय में होता है।

ayurvedic medicine for leucorrhea, symptoms of likoria, likoria causes.

Leukorrhea ke karan / Likoria Causes / श्वेत प्रदर के कारन

  • ज्यादा मात्रा में उत्तेजक पदार्थो का सेवन करना।
  • गर्भाशय में चोट लगने के कारन।
  • सम्भोग के दौरान गलत आसन के कारन।
  • पोषण आहार में कमी के कारन।
  • ज्यादा उपवास करने की वजह से।


  • यूरीनरी संक्रमण के कारन।
  • किसी फंगल संक्रमण की वजह से।
  • गुप्तांग की साफ-सफाई न करने से।
  • मधुमेह और एनीमिया की वजह से।
  • ज्यादा गर्व निरोधक दवाओं के सेवन करने से।
  • बार-बार गर्भपात करने के कारन।

इसे भी जरुर पढ़े: स्तन का दूध कैसे बढ़ाये

Leukorrhea Symptoms / ल्यूकोरिया के लक्षण / Likoria Symptoms

Leucorrhea

  • कमजोरी लगना।
  • भूख में कमी का होना।
  • बार-बार पेशाब आना।
  • हाथ और पैर में दर्द होना।


  • योनी ज्यादा खुजली होना।
  • जी मचलना।
  • बदन का भारी होना।

Ayurvedic Medicine for Leucorrhea – ल्यूकोरिया / श्वेत प्रदर का ईलाज



1. जो पुरुष यौन रोगों से ग्रषित है। उनसे सम्बन्ध न बनाये।
2. शरीर की साफ़ सफाई पर हमेशा ध्यान दे। खासकर योनी की सफाई पर विशेष ध्यान दे।
3. मिर्च और मसाले अत्याधिक सेवन करने से बचे।
4. नशीले पदार्थ का सेवन न करें।
5. आयरन युक्त पदार्थ का सेवन करें।
6. पेशाब करने के बाद योनी को पानी से जरुर साफ़ करें।

यह भी पढ़े: कैंसर के लक्षण

NEXT

इसे भी पढ़े:

loading…

Leucorrhea, leucorrhea treatment in hindi, white discharge treatment in hindi, pregnancy discharge, discharge during pregnancy, white discharge during pregnancy, leucorrhoea, leucorrhea treatment, leucorrhoea treatment, leukorrhea pregnancy, treatment of leucorrhoea, medicine for leucorrhea, likoria disease, likoria causes, symptoms of likoria,

उम्मीद है की, आपको यह लेख उपयोगी लगा होगा। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

|धन्यवाद|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest

error: Content is protected !!