Sugar ka ilaj | शुगर का इलाज | डायबिटीज का उपचार | Diabetes in Hindi

/
/
120 Views

Diabetes / Madhumeh / Sugar ka ilaj आज इस लेख में शुगर का इलाज के बारे में जानेंगे। यह एक गंभीर रोग है। मधुमेह को कई रोगों का जन्मदाता भी कह सकते है। भारत सरकार के अनुमान के अनुशार भारत में लगभग 6 करोड़ लोग डायबिटीज के शिकार है। आने वाले समय में इनकी संख्या बढ़ने ही वाली है। जो गंभीर चिंता का विषय है।

डायबिटीज का उपचार – इस रोग में मरीज के Blood sugar (रक्त ग्लूकोस) का लेवल बढ़ जाता है। इस रोग के कारन लीवर और किडनी पर असर पड़ता है। डायबिटीज (Diabetes) की वजह से शरीर के बाकि अंग जैसे – दिल, किडनी, आँख, मस्तिष्क इत्यादि के गंभीर रोग हो सकते है। यानी इन बिमारियों के होने का खतरा बढ़ सकता है।

खून में जब गन्दा कोलेस्ट्रोल (Bad Cholesterol) का अवयव बढ़ने लगता है। तब उसकी वजह से Madumeh / Diabetes / Blood Sugar होता है।

Sugar ka ilaj – आज के जीवनशैली (Life Style) की वजह से, कई सारे रोगों को हम खुद बुलावा देते है। इस बदलते माहौल के कारण Madhumeh / Diabetes रोगियों की संख्या दिन प्रति दिन बढती ही जा रही है। इस रोग का एलोपैथ में कोई स्थाई (Permanent) इलाज नहीं है।



शुगर का इलाज – जब हम भोजन खाते है। तब भोजन पेट में जाकर एक तरह के इंधन में बदल जाता है। उसे ही ग्लूकोस (Glucose) कहा जाता है। यह ग्लूकोस एक तरह की शर्करा होती है। यही ग्लूकोस खून में मिलता है। और शरीर के विभिन्न कोशिकाओं (Cell) तक पहुँचता है। इस रोग के होने का सही कारण जानना बेहद जरुरी है। इस रोग के प्रति लोगो का जागरूक न होना। शायद इस वजह से भी रोगियों की संख्या में इजाफा हो रहा है।

Sugar ka ilaj | Diabetes in Hindi | शुगर का इलाज | डायबिटीज का उपचार | Madhumeh

sugar ka ilaj

शुगर का इलाज – लोगों का अपने खाने और पीने पर नियंत्रण ही नहीं है। आज के वक़्त में लोग पोष्टिक आहार को छोड़कर जंक फ़ूड (Junk Food) का सेवन कर रहे है। उसी तरह ताजा जूस पीने के बजाये कोल्ड ड्रिंक का सेवन कर रहे है। 1 दिन में कोल्ड ड्रिंक पीने की कोई कितनी ही नहीं है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन (WHO) के अनुशार पूरी दुनिया के लगभग ¼ डायबिटीज रोगी सिर्फ भारत में ही है।

Sugar ka ilaj – मधुमेह या डायबिटीज होने के बाद ऐसा नहीं है की यह रोग ठीक नहीं हो सकता है। बिलकुल ठीक हो सकता है, उसके लिए आपको कुछ बातों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। सबसे पहले जीवनशैली में बदलाव लाए। खान-पान की आदतों में सुधार लाए। तली-भुनी, फ़ास्ट फ़ूड और कोल्ड ड्रिंक इत्यादि को त्याग दें। आयुर्वेदिक उपचारों नियमित रूप से इस्तेमाल करे।




शुगर का देशी दवा – यहाँ इस लेख में हम आपको कुछ आसान आयुर्वेदिक तरीके बताएँगे। जिसकी मदद से मधुमेह (Madhumeh) यानी डायबिटीज (Diabetes) से छुटकारा मिल जायेगा। आशा करते है यह लेख आपके लिए उपयोगी होगा। तो चलिए जानते है – शुगर का इलाज के बारे में।

1. Sugar ka ilaj – शुगर की देशी दवा

सबसे पहले आंवला का रस 10 मिलीग्राम लीजिये। अब उसमे लगभग 2 ग्राम हल्दी चूर्ण (Turmeric Powder) मिला लीजिये। इस मिश्रण को रोगी को पिलाइए। ऐसा दिन में 2 बार करें। इससे खून में शुगर कण्ट्रोल में रहता है।

Sugar ka ilaj / शुगर का इलाज / डायबिटीज का उपचार / Diabetes in Hindi

2.  शुगर का इलाज – Sugar ka ilaj

सहजन के बारे में शायद ही आपको पता होगा। यह लगभग 300 से भी ज्यादा रोगों में फायदेमंद होता है। इसमें प्रोटीन और कैल्शियम की मात्रा काफी ज्यादा होती है। यह रक्तचाप को कम करने का काम करता है। उसके साथ-साथ भोजन पचाने में भी मदद करता है। इसमें कैल्शियम दूध के मुकाबले 4 गुना होता है। और प्रोटीन लगभग 2 गुना होता है।

3. Diabetes in Hindi – डायबिटीज का उपचार

सबसे पहले क्रमश 2, 4 चम्मच नीम और केला के पत्ते का रस निकाल लीजिये। मिलाकर इस रस को पीने से मधुमेह / डायबिटीज को रोगी को फायदा होता है।



4. Blood Sugar Ka Ilaj – शुगर का देशी दवा

Madhumeh / Diabetes के मरीज तुलसी के पत्ते का इस्तेमाल अवश्य करें। इसमें भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। साथ ही साथ इसके पत्ते में जो आवश्यक तेल होता है। वह इन्सुलिन के लिए सहायक होता है। रोजाना खली पेट 1 छोटी चम्मच तुलसी के पत्ते का रस पीजिये। आपको लाभ मिलेगा। आप चाहे तो 2 से 3 पत्ते भी सेवन कर सकते है। शुगर के स्तर (Blood Sugar Level) को कम करता है।

5. शुगर का इलाज – Sugar ka ilaj

करेला का सेवन डायबिटीज (Diabetes) रोगियों के लिए फायदेमंद होता है। प्रतिदिन करेले का रस पीजिये। इसका कड़वा जूस Sugar Level को कम करने का काम करता है। आप चाहे तो करेले का सेवन विभिन्न तरीके से कर सकते है। आपको अत्यंत लाभ मिलेगा।

Diabetes in Hindi | शुगर का देशी दवा | Sugar ka ilaj

Sugar ka ilaj

6. डायबिटीज का उपचार – Diabetes in Hindi

कहते है कलोंजी और मैथी दाना मधुमेह (Madhumeh) का रामबाण उपचार है। सबसे पहले मैथी दाना और कलोंजी को पीस लीजिये। लेकिन ध्यान रहे की थोडा दरदरा पिसे। अब इसे कांच की बोतल या बरनी में रख लीजिये।

अब 1 गिलास पानी में 1 चम्मच चूर्ण डालकर रातभर के लिए छोड़ दीजिये। सुबह पानी छानकर अलग रख लीजिये। अब इस मिश्रण को चबा-चबा कर खा जाइये। उसके बाद बचा हुआ पानी को आराम से मतलब घूंट-घूंट करके पी जाइये। आपको अत्यंत लाभ मिलेगा।

7. शुगर का देशी दवा – Sugar ka ilaj in Hindi

डायबिटीज (Madhumeh) के मरीज को जामुन का सेवन जरुर करना चाहिए। आयुर्वेद में इसे भी अचूक औषधि कहा गया है। रोजाना जामुन का सेवन करें। यह रक्त में शुगर के स्तर को कम करने में सहायक होता है। आप चाहे तो कला नमक के साथ जामुन का सेवन कर सकते है। आपको फायदा होगा।

8. Sugar ka ilaj – शुगर का इलाज

इस रोग में आप हरी चाय (Green Tea) का भी उपयोग कर सकते है। यह भी मधुमेह को कम करने का कार्य करता है। इसमें पोलीफीनोल्स होता है। जो की एक बेहतरीन हाइपो-ग्लोइसेमिक एवं एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व है। इसके इस्तेमाल से शरीर सही प्रकार से इन्सुलिन का उपयोग कर पाता है।

9. डायबिटीज का उपचार – Diabetes in Hindi

दालचीनी का उपयोग Diabetes / Madhumeh की समस्या में लाभकारी होता है। अपने दैनिक आहार में इसे अवश्य शामिल करें। यह रक्त में शुगर के स्तर को करता है। दालचीनी के सेवन करने से वजन भी नियंत्रित रहता है।

शुगर का देशी दवा | Sugar ka ilaj | डायबिटीज का उपचार

10. शुगर का देशी दवा – Sugar ka ilaj

यह विधि आपके बहुत काम का साबित होगा। इस विधि के सहायता से ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कम किया जा सकता है। तो चलिए जानते है उस उपाय को, जो आपके लिए लाभकारी होगा।

सबसे पहले तेज पत्ता 100 ग्राम, मैथी दाना 100 ग्राम, बेलपत्र के पत्ते 250 ग्राम और काले जामुन की गुठली 150 ग्राम लीजिये। अब इन सब को मिलाकर चूर्ण तैयार कर लीजिये। अब इस चूर्ण को लगभग एक से डेढ़ चम्मच गुनगुने पानी के साथ लीजिये। इसे खली पेट सेवन करना है या भोजन के 1 घटे पहले ले सकते है। ऐसा आप सुबह और शाम करें। इस उपाय को लगातार 2 से 3 महीने तक करें। आपको अवश्य लाभ मिलेगा।

loading…

Sugar ka ilaj | शुगर का इलाज | डायबिटीज का उपचार | Diabetes in Hindi

  • सुबह और शाम पैदल अवश्य घूमे।
  • धीमी गति से दौड़ भी लगाये।
  • नंगे पैर से कंकड़, बालू या पत्थर इत्यादि पर चले।
  • लगभग 5 तक मंडूकासन योग का अभ्यास करें
  • रोजाना व्यायाम या योग जरुर करें।

उम्मीद है की, आपको यह लेख उपयोगी लगा होगा। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

एक निवेदन – इस ब्लॉग में दिए गए सभी Ayurvedic Treatment, Gharelu Nuskhe, Home Remedies, Hoemopathy इत्यादि लेख को लोगो के अनुभव के आधार पर तैयार किया गया है। किसी भी रोग में इन उपायों को अजमाने से पहले चिकित्सक (Doctor) की सलाह जरुर लें। ऊपर बताये गए उपाय और नुस्खे को अपने विवेक के आधार पर इस्तेमाल करें। कोई असुविधा होने पर इस ब्लॉग www.hindiayurveda.com की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।

|धन्यवाद|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest

error: Content is protected !!