Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views :

Sweet Potato Benefits | शकरकंद खाने के फायदे | Shakarkand

/
/
249 Views

Sweet Potato Benefits in Hindi आज इस लेख में शकरकंद के गुण और उसके फायदे के बारे में जानेंगे। “Shakarkand” को अंग्रेजी में “Sweet Potato” कहा जाता है। यह शरीर को गर्म रखता है। इसीलिए सर्दियों के मौसम में इसे अवश्य खाना चाहिए। यह शरीर की गर्मी को बनाये रखता है। यह एक प्रकार ऊर्जा उत्पादक आहार है।

Shakarkand ke Fayde भारत में शकरकंद की खेती की जाती है। खासकर उत्तर प्रदेश और बिहार में इसके इसकी खेती होती है। आलू की तुलना में इसमें ज्यादा स्टार्च होता है।

Benefits of Shakarkand – Sweet Potato ke Fayde

Sweet Potato को आग में पकाकर या उबालकर खा सकते है। आप चाहे तो इसे कच्चा भी खा सकते है। इसके रोजाना सेवन से आप सदा जवान बने रहेंगे। यह स्वाद में तो मीठा होता ही है। उसके साथ साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद है।


sweet potato

Sweet Potato Nutrition in Hindi / Urdu

Shakarkand Nutrition in Hindi शकरकंद में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते है। इसमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, फोलेट, कॉपर और विटामिन A, B, C, इत्यादि होता है। यह फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करता है। क्यूंकि इसमें बीटा कैरोटिन होता है। इसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। यह ऊर्जा का बेहतरीन श्रोत है।



Sweet Potato Health Benefits – Shakarkand ke fayde

1. शकरकंद खाने के बेहतरीन फायदे पेट की अल्सर में यह फायदेमंद आहार है। इसमें मौजूद पोषक तत्व जैसे – बीटा कैरोटिन, पोटेशियम, कैल्शियम और विटामिन B, C इत्यादि अल्सर की आशंका को कम करने का काम करता है। पेट के अल्सर से पीड़ित रोगियों को Sweet Potato अवश्य खिलाना चाहिए।

इसे भी पढ़िए: मुंह के छाले का घरेलु उपचार

2. Shakarkand ke Fayde शकरकंद अस्थमा की समस्या में फायदेमंद है। इसमें विटामिन सी होता है। जो फेफड़े की परेशानी से राहत दिलाने का काम करता है। यह शरीर को गर्म रखती है। इसीलिए अस्थमा के रोगी को Sweet Potato का सेवन जरुर करना चाहिए।

यह भी अवश्य पढ़े : अस्थमा अटैक का घरेलु उपचार हिंदी में।

3. Sweet Potato ke Fayde पेट को अधिकांश रोग की जननी कहा जाता है। आज के समय में लोगों का पाचनतंत्र काफी कमजोर हो गया है। कमजोर पाचनतंत्र का अचूक औषधी है – शकरकंद। इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। जो भोजन पचाने के साथ साथ पाचनतंत्र को सही करता है।



Sweet Potato Benefits | Shakarkand ke Fayde

4. Shakarkand benefits in Hindi हर वर्ष हृदयघात (Heart Attack) की वजह से कई लोगों की जान चली जा रही है। शकरकंद का रोजाना सेवन करें। यह रक्तचाप (Blood Pressure) को नियंत्रित करता है। Sweet Potato में विटामिन B6 और पोटेशियम की मात्रा भरपूर होती है। जिसके कारन स्ट्रोक आने की संभावना कम हो होती है।

यह भी जरुर पढ़े : दिल की बीमारी का आयुर्वेदिक इलाज हिंदी में।
इसे भी जरुर पढ़े : उच्च रक्तचाप का घरेलु उपचार हिंदी में।

5. शकरकंद के फायदे / Shakarkand ke fayde इसके सेवन करने से कई तरह के कैंसर से बचा जा सकता है। यह  कोलन, प्रास्ट्रेंट और आंत के कैंसर से बचाने का काम करता है। इसमें विटामिन A और बीटा कैरोटिन प्रचुर मात्रा में होता है। कैंसर की बीमारी से बचाता है। एक शोध के अनुशार Sweet Potato Juice पीने से स्तन कैंसर होने की संभावना 25% तक कम हो जाती है।

यह भी अवश्य पढ़े : कैंसर की जानकारी हिंदी में।

Swee Potato Benefits / शकरकंद खाने के फायदे / Shakarkand ke fayde

  • शकरकंद के सेवन करने से, यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाता है।
  • यह तनाव (stress) से राहत दिलाता है। Benefits of Shakarkand.
  • रोजाना Shakarkand खाने से, यह ब्लड सुगर लेवल को संतुलित करता है।
  • इसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी होता है। जो एसिडिटी और हार्टबर्न की समस्या से राहत दिलाता है।

  • Sweet Potato खाने से, आँखों की रौशनी बढ़ती है।
  • शकरकंद त्वचा में कोलेजन का निर्माण करता है। जिससे त्वचा जवान बनी रहती है।
  • यह प्रदर रोग में भी लाभकारी होता है।

नोट: जिन लोगों को किसी प्रकार की किडनी की समस्या है। उन लोगों को शकरकंद का सेवन नहीं करना चाहिए।

इसे भी अवश्य पढ़े:

loading…

उम्मीद है की, आपको यह लेख उपयोगी लगा होगा। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

एक निवेदन – इस ब्लॉग में दिए गए सभी Health tips in Hindi, Beauty tips in Hindi, Skin Care tips in Hindi, Ayurvedic Treatment, Gharelu Nuskhe, Home Remedies, Healthy Food in Hindi, और Homeopathy इत्यादि लेख को, लोगो के अनुभव के आधार पर तैयार किया गया है। किसी भी रोग में इन उपायों को अजमाने से पहले चिकित्सक (Doctor) की सलाह जरुर लें। ऊपर बताये गए उपाय और नुस्खे को अपने विवेक के आधार पर इस्तेमाल करें। कोई असुविधा होने पर इस ब्लॉग www.hindiayurveda.com की कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।

|धन्यवाद|

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest
error: Content is protected !!