Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views :
Home / Ayurveda in Hindi / High Blood Pressure in Hindi – उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण और उपचार

High Blood Pressure in Hindi – उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण और उपचार

/
/
/
1031 Views

उच्च रक्तचाप – High Blood Pressure in Hindi

High Blood Pressure in Hindi – आज इस लेख में उच्च रक्तचाप के बारे में वृस्तार से जानेंगे। ब्लड प्रेशर को हिंदी में रक्तचाप कहा जाता है। जब धमनी में खून का दबाव बढ़ जाता है। तब इस दबाव के कारण धमनियों में खून का प्रवाह बनाये रखने के लिए हृदय को सामान्य से ज्यादा कार्य करने की आवश्यकता पड़ती है।

आज के दौर में जीवन जीने का ढंग बहुत ही बदल गया है। मशीनी के इस युग में हम सभी आलस्य की चपेट में आ गए है। उच्च रक्तचाप को दिल के दौरे का शुरुआती लक्षण मान सकते है। इसीलिए इस रोग को हलके में न ले। यह रोग शरीर के कई अंगो को पहुंचा सकता है। अनियमित खान-पान, गलत लाइफस्टाइल, अनिद्रा और गैस इत्यादि की वजह से High Blood Pressure in Hindi की समस्या हो जाती है।

 उच्च रक्तचाप के कारण | High Blood Pressure ke karan

High Blood Pressure (उच्च रक्तचाप)High Blood Pressure ke karan | उच्च रक्तचाप के कारण :- ब्लड प्रेशर सही नहीं रहने के कारण दो प्रकार की समस्या होती है। 1). उच्च रक्तचाप 2). निम्न रक्तचाप।

एक स्वथ्य मनुष्य का डायास्टोलिक रक्तचाप 60-80 mm होता है। जबकि सिस्टोलिक रक्तचाप 90 से 120 मिलीलीटर होता है। अगर रक्तचाप 130/80 से उपर हो, तो उस व्यक्ति को हाइपरटेंशन है। हाई ब्लड प्रेशर का दूसरा नाम हाइपरटेंशन भी है।

उच्च रक्तचाप के लक्षण | High Blood Pressure ke Lakshan

  • चक्कर या सिर घुमने जैसे लगना।
  • नींद नहीं आना।
  • काम करने की क्षमता न रहना।

Home Remedies for High Blood Pressure in Hindi



1. लहसुन के द्वारा उच्च रक्तचाप का उपचार – High BP ka ilaj

लहसुन, उच्च रक्तचाप को ठीक करने में बहुत ही मददगार है। यह एक उत्तम घरेलु उपाय है। भोजन के पश्चात् मुनक्का के साथ लहसुन की कली को चबाये। लहसुन खून का थक्का नहीं जमने देता है। इसके अलावा सुबह खली पेट लगभग 3 से 4 लहसुन की कली को खाए।

इसे भी अवश्य पढ़े :- लहसुन के फायदे

2. गर्म पानी से हाई बी.पी का इलाज – Uchch Raktchap ka Upchar

बढे हुए ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए यह उपाय अपनाये। एक गिलास गर्म पानी ले। अब उसमे एक चम्मच काली मिर्च पाउडर मिला दे। अब 3-3 घंटे के अन्तराल पर उस मिश्रण को पिये।

यह भी जरुर पढ़े :- गर्म पानी पीने के फायदे, आप जानकर हैरान हो जायेंगे

3. तरबूज के बीज द्वारा ब्लड प्रेशर का आयुर्वेदिक इलाज – High BP Remedy

अलग-अलग खसखस और तरबूज के बीज को पीस ले। बराबर मात्रा में दोनों को मिला ले। सुबह प्रतिदिन एक चम्मच सेवन करे। इसके अलावा तरबूज का भी सेवन करे।

4. विटामिन सी फायदेमंद है, उच्च रक्तचाप की समस्या में – Ayurved

जिन लोगो को उच्च रक्तचाप की शिकायत है। उन्हें विटामिन सी का सेवन करना चाहिए। आंवला विटामिन सी का सबसे बढ़िया श्रोत है। एक बड़ी चम्मच शहद और आंवला का रस मिलाकर पिये। यह सुबह और शाम करे। आपको फायदा होगा।

5. High Blood Pressure ka upchar Cardamom dwara

इलाइची का इस्तेमाल करके आप हाई ब्लड प्रेशर को कम कर सकते है। रोजाना इलाइची खाए, यह उच्च रक्तचाप (Blood Pressure) को नियंत्रित करता है।

6. मुनक्का के जरिए, हाई ब्लड प्रेशर का समाधान हिंदी में

एक कप पानी में लगभग 10 मुनक्का डालकर रातभर छोड़ दे। सुबह-सुबह खली पेट मुनक्का को खाए और उसका बचा पानी पी जाये।

7. फल और सब्जियों द्वारा उच्च रक्तचाप की समस्या का उपचार – Ayurved

आलू, टमाटर, ककड़ी, पुदीना, आंवला, पपीता, टिंडा और छाछ इत्यादि का सेवन अधिक से अधिक करने की कोशिश करे। इन सभी फल और सब्जियों में उच्च रक्तचाप को कम करने के गुण होते है।

8. दूध और छाछ से हाई बी पी का उपचार – High Blood Pressure in Hindi

इस बीमारी में दूध और छाछ भी काफी फायदेमंद है। प्रतिदिन गाय का दूध का सेवन करे। छाछ में हिंग और नमक मिलाकर पीने से फायदा होता है।

इसे भी जरुर पढ़ें :- गाय के दूध के फायदे | Cow Milk Benefits in Hindi

9. गाजर और पालक से उच्च रक्तचाप में फायदे

पालक और गाजर का रस निकाल ले। लगभर 300 ग्राम गाजर का रस और 150 ग्राम पालक का रस मिलाकर पीजिए। आपको लाभ मिलेगा।

गाजर के फायदे और लाभ | Carrot Benefits in Hindi

पालक के फायदे और लाभ | Spinach Benefits in Hindi

10. हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में प्याज से लाभ – High Blood Pressure in Hindi

प्याज का रस भी फायदेमंद है। बराबर मात्रा में शहद और प्याज का रस मिला ले। प्रतिदिन लगभग 10 से 12 ग्राम की मात्रा में सेवन करे। आपको फायदा मेह्शूश होगा।

इसे भी अवश्य पढ़ें :- आश्चर्यचकित हो जायेंगे प्याज के फायदे जानकर

11. मैथी के द्वारा उच्च रक्तचाप रोग का आयुर्वेदिक उपचार

मैथी भी बढे काम की है। सबसे पहले मैथी के दाने का चूर्ण तैयार कर ले। अब प्रतिदिन एक चम्मच सुबह-सुबह खाली पेट सेवन करे। आपको राहत मिलेगी।

12. जीरा के जरिये हाई ब्लड प्रेशर का घरेलु उपचार – High Blood Pressure in Hindi

इस बीमारी में जीरा का इस्तेमाल भी फायदेमंद है। सबसे पहले शक्कर, जीरा और सौंफ को बराबर मात्रा में ले। अब इन तीनो का चूर्ण बना ले। सुबह और शाम एक गिलास पानी में एक चम्मच चूर्ण डालकर पिये। आपको लाभ मिलेगा।

13. तुलसी और नीम के फायदे हाई बी.पी रोग में

नीम का पत्ता और तुलसी का पत्ता भी लाभकारी है। लगभग 2 नीम के पत्ते और 4 तुलसी के पत्ते को पीस ले। अब एक पानी में घोलकर सुबह के समय खली पेट पिये।

नीम | Neem Benefits in Hindi

तुलसी के फायदे | Basil in Hindi

14. निम्बू के जरिए, उच्च रक्तचाप की परेशानी से राहत

निम्बू बढे हुए रक्तचाप को जल्दी कण्ट्रोल करता है। आधा गिलास पानी ले। उसमे आधा निम्बू को नोचोड़कर पिये। आपको फायदा होगा।

15. धनिया और सर्पगंधा द्वारा High Blood Pressure ka upchar

सबसे पहले 1-1 ग्राम सर्पगंधा और सुखा धनिया ले। अब 2 ग्राम मिश्री मिलाकर पीस ले। अब इस मिश्रण को पानी के साथ सेवन करे।

Home Remedies for High Blood Pressure

दोस्तों अगर आपको यह लेख उपयोगी लगा हो तो, प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

|धन्यवाद|

Summary
High Blood Pressure in Hindi - उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण और उपचार
Article Name
High Blood Pressure in Hindi - उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण और उपचार
Description
High Blood Pressure in Hindi | उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण और उपचार :- धनिया और सर्पगंधा द्वारा High Blood Pressure ka upchar, हाई बी.पी,
Author
Publisher Name
Hindi Ayurveda
Publisher Logo
  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest
  • stumbleupon
  • Reddit

error: Content is protected !!