Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views : Ad Clicks :Ad Views :

Menstrual Cup in Hindi – मेंस्ट्रूअल कप की जानकारी हिंदी में

/
/
231 Views

Menstrual Cup in Hindi – मेंस्ट्रूअल कप की जानकारी हिंदी में

परिवर्तन ही संसार का नियम है। बदलते ज़माने के साथ टेक्नोलॉजी भी बदलती रहती है। आज इस लेख में मेंस्ट्रूअल कप / Menstrual Cup के बारे में जानेंगे। जिसने सेनेटरी नैपकिन्स की जगह ले ली है। हालाँकि अभी भी सेनेटरी नैपकिन्स का इस्तेमाल ज्यादा हो रहा है। लेकिन आने वाले दिनों में लोग इसे भूल जायेंगे। क्यूंकि आने वाले समय में “Menstrual Cup” इसकी जगह ले लेगा।

Menstrual Cup मेडिकल-ग्रेड सिलिकॉन से बने होते है। इसका साइज़ बेल की तरह होता है। जो काफी लचीला (Flexible) होता है। और बिना परेशानी के इसे योनी में इन्सर्ट किया जा सकता है। दिया मिर्जा, जो UN की एनवायरनमेंट गुडविल एम्बेसडर है। उन्होंने हाल में अभी बताया की वे सेनेटरी नैपकिन्स का प्रयोग नहीं करती है। आपको बता दें की सेनेटरी नैपकिन्स Environment Friendly नहीं है। इससे पर्यावरण को नुकसान पहुँचता है। दिया मिर्जा ने बताया की वह बायोडिग्रेडेबल नैपकिन्स का प्रयोग करती है। जो 100% एनवायरनमेंट फ्रेंडली होता है।

Menstrual Cup Hindi

Menstrual Cup in Hindi – मेंस्ट्रूअल कप की जानकारी हिंदी में

लोगो के मन में नए उत्पाद को लेकर कई सवाल होते है। इस लेख के माध्यम से आज उन्ही सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे। तो चलिए जानते है Menstrual Cup in Hindi के बारे में।

Menstrual Cup in Hindi – मेंस्ट्रूअल कप से क्या फायदा होगा

सेनेटरी नैपकिन्स की वजह से लंबे वक़्त तक खून / Blood आपके योनी के आस-पास लगा रहता है। जबकि Menstrual Cup में ऐसा नहीं होता है। क्यूंकि मेंस्ट्रूअल कप में खून जमा होते रहता है। जिससे आपको TSS यानी टोक्सिन शॉक सिंड्रोम की समस्या नहीं होगी। TSS एक रेयर बैक्टिरियल रोग है। अगर आप लम्बे वक़्त तक गीले नैपकिन और टैम्पॉन का प्रयोग कर रहे है। तो यह बीमारी आपको हो सकती है।

Menstrual Cup

मेंस्ट्रूअल कप को इस्तेमाल कैसे करना है – Menstrual Cup Uses

Menstrual Cup को इस्तेमाल करने के लिए उसे साबुन धो लीजिये। फिर उसे गर्म पानी में 10 से 15 के लिए डालकर Sterilize यानी कीटाणुरहित कर लीजिये। इसके साथ-साथ आपके हाथ भी साफ़-सुथरे होने चाहिए। मेंस्ट्रूअल कप को बिच से दबाकर सी-शेप में मोड़ लीजिये। मोड़ने के बाद उसे योनी में इन्सर्ट कर लीजिये। अंदर घुसते ही यह अपने वास्तविक रूप में आ जाता है और योनी की दीवरों से लग जाता है। आपको ऐसा महसूस हो की मेंस्ट्रूअल कप अंदर जाकर पूरी तरह से खुला नहीं है। तो उसे थोड़ा सा घुमा लीजिये।

मेंस्ट्रूअल कप के फायदे – Benefits of Menstrual Cup

  • यह वेजिनल हेल्थ के लिए अच्छा होता है।
  • इसे आप बार-बार इस्तेमाल कर सकते है।
  • यह पर्यावरण को हानि नहीं पहुंचाता है।
  • इस कप को घंटो लगाकर रहा जा सकता है।
  • इस कप केमिकल्स अवयव नहीं होते है।
  • इससे संक्रमण (Infection) होने का खतरा ना के बराबर होता है।
  • किसी भी उम्र की लड़की इस कप का प्रयोग कर सकती है।
  • लगभग 4 से 5 वर्ष तक इस कप का इस्तेमाल किया जा सकता है।

NOTE :- प्रत्येक इस्तेमाल के बाद मेंस्ट्रूअल कप को सैनिटाइज (गर्म पानी से अच्छे से साफ़) करना जरुरी है।

उम्मीद है Menstrual Cup” लेख आपको उपयोगी लगा होगा। प्लीज इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

इसे भी अवश्य पढ़े :-
Heart Attack Symptoms
Brain Tumor Symptoms
Swine Flu Symptoms
Kidney Kharab Hone ke Lakshan
Male Infertility
Skin Cancer Symptoms
Green Tea Face Pack
Pranayama Benefits
Menstrual Cycle
Normal Delivery Tips
Yoga for Diabetes
Yoga Poses for Weight Loss
GM Diet Plan for 7 Days
Eye care Tips
Tulsi ke fayde
Pedicure
Beauty tips
Anti Aging
Dark Circles
Gora hone ke gharelu upay
Hair Growth Foods
Cumin seeds
White Discharge
liver cleansing diet
Liver Damage
High Blood Pressure
Egg Mask
Increase Height
Stress Relief
Dandruff
Mouth Ulcers
Acidity
Bad Breath
Bawasir
Kidney Stones
Chicken Pox
Constipation
Malaria
Ayurveda in Hindi

[धन्यवाद]

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest
  • stumbleupon
  • Reddit
error: Content is protected !!