Ad Clicks : Ad Views : Ad Clicks : Ad Views : Ad Clicks : Ad Views : Ad Clicks : Ad Views : Ad Clicks : Ad Views : Ad Clicks : Ad Views : Ad Clicks : Ad Views :
Home / Ayurvedic Treatment / ओट्स के फायदे और नुकशान | Oats Benefits and Side Effects in Hindi

ओट्स के फायदे और नुकशान | Oats Benefits and Side Effects in Hindi

/
/
/
86 Views
Oats / ओट्स
  • ओट्स क्या है | What is Oats in Hindi
  • ओट्स के प्रकार | Types of Oats in Hindi
  • ओट्स में पोषक तत्व | Oats Nutrition in Hindi
  • Oats Value per 100 Gram
  • ओट्स खाने के फायदे | Health Benefits of Oats in Hindi
  • ओट्स खाने के नुकशान | Oats Side Effects in Hindi

Oats in Hindi :- इस लेख में आज हम ओट्स के फायदे और नुकशान के बारें जानेंगे। Oats को हिंदी में जई कहते है। ओट्स हेल्थ के लिए लाभकारी होता है, तभी तो कई सारे लोग सुबह के नाश्ते में ओट्स खाना पसंद करते है। यह आसानी से पचने वाला भोजन में से एक है। यह खाने में स्वादिष्ट होता है।

बाजार में बिकने वाले ओट्स में सोडियम और चीनी की मात्रा मिली होती है। इसीलिए खरीदते समय ध्यान दें। यह आहार ग्लूटेन मुक्त होता है यानी ओट्स में ग्लूटेन नहीं होता है।

ओट्स क्या है | What is Oats in Hindi

oats in hindi, ओट्स के फायदे, ओट्स के नुकशान, Oats ke fayde,

Oats in Hindi :- ओट्स जिसे हिंदी में जई के नाम से भी जानते है। मूल रूप से यह जई से बनता है। यह अपने बीजों के लिए जाना जाता है। यह आसानी से पच जाता है, क्यूंकि इसमें पाया जाने वाला फाइबर पानी में घुलनशील होता है। इसे लाइट आहार कहना गलत नहीं होगा।

ओट्स का इस्तेमाल 3000 वर्ष पहले से हो रहा है। यह यूरोप का मुख्य अनाज में से एक था। सबसे पहले इसे स्कॉटलैंड ने उगाया था। पहले के समय में सिर्फ जानवर ही ओट्स की फसल को खाया करते थे। इसके फायदों को देखते हुए प्रोसेस्ड करके इंसानों के खाने लायक बनाया गया।

ओट्स के प्रकार | Types of Oats in Hindi

ओट्स के कई तरह के होते है। तो चलिए देर ना करते हुए उन किस्मों के बारे में जानते है।

  • Old Fashioned Oats
  • Instant Oatmeal
  • Oats Groats
  • Quick Coocking Oats
  • Oats Bran
  • Steel Cut Oats
  • Irish Oats
  • Oat Flour

ओट्स में मौजूद पोषक तत्व | Oats Nutrition in Hindi

इसमें कई सारे पोषक तत्व मौजूद होता है जैसे – कैल्शियम, पोटाशियम, फाइबर, फास्फोरस, प्रोटीन और कार्ब्स इत्यादि होता है। जो शरीर कई तरह से लाभ पहुंचता है। इसीलिए अगर हेल्थी रहना चाहते हो, तो आज से ही इसका सेवन शुरू कर दो।

Oats Value per 100 ग्राम

  • प्रोटीन :- 16.9 ग्राम
  • फाइबर :- 10.6 ग्राम
  • फैट :- 6.9 ग्राम
  • कार्ब्स :- 66.3 ग्राम
  • वाटर :- 8%
  • कैलोरी :- 389

ओट्स खाने के फायदे | Health Benefits of Oats in Hindi

अगर आप हेल्थी जीवन जीना चाहते है, तो आज से ओट्स का सेवन करना शुरू कर दें। इसमें कई पोषक तत्व होते है, जो सारी बिमारियों जैसे – हृदय रोग, मधुमेह, कैंसर, हाई ब्लड प्रेशर, और कब्ज इत्यादि में फायदेमंद होता है। यह बलों की समस्या जैसे बाल झाड़ना और रुसी आदि को ठीक करता है। तो चलिए देर ना करते हुए जानते ओट्स के फायदे के बारे में।

oats in hindi, ओट्स के फायदे, ओट्स के नुकशान, Oats ke fayde,

1. डायबिटीज के इलाज में ओट्स खाने के फायदे Oats for Diabetes Treatment in Hindi          

जो लोग मधुमेह (Diabetes) की समस्या से परेशान है। उन्हें ओट्स का सेवन रोजाना करना चाहिए। क्यूंकि ओट्स में ग्लाइसेमिक कम होती है और फाइबर की मात्रा भरपूर होती है। जो ब्लड में शुगर को नियंत्रित करने में सहायता करता है। कई सारे अध्ययन हुए है जिसमें ओट्स का इस्तेमाल टाइप-2 के मरीज के लिए लाभकारी होता है। इसमें बीटा-ग्लूकॉन भी होता है, जो रक्तशर्करा के साद्रता को कम करता है। आपको जानकर आश्चर्य होगा की यह हाइपरग्लाइसेमिया को भी कम करने का काम करता है।

यह भी जरुर पढ़े :- शुगर का घरेलु ईलाज

नोट :- बाजार में कई तरह के ओट्स उपलब्ध है। कुछ ओट्स में शुगर की मात्रा ज्यादा होती है। अत: कम शुगर वाले ओट्स का ही इस्तेमाल करें।

2. ओट्स खाने के फायदे इम्यूनिटी सुधारने में – Oats Improve Immunity in Hindi

ओट्स के द्वारा, इम्युनिटी को बढ़ाया जा सकता है। चूँकि इसमें बीटा-ग्लूकॉन होता है, जो इमूनिटी को बूस्ट करता है और जख्म को भरने में भी सहायक होता है। इसके साथ-साथ ओट्स में जिंक और सेलेनियम ज्यादा मात्रा में होता है। जो संक्रमण (Infection) से लड़ने में मदद करता है।

3. ओट्स खाने के फायदे रखें हृदय रोगों को दूर – Oats Improve Cardiac Health in Hindi

आज के समय में हृदय रोगियों को संख्या दिनों-दिन बढती जा रही है। हृदय को हेल्थी रखना चाहते हो, तो ओट्स का सेवन आज से ही शुरू कर दो। जैसा की हमने पहले भी बताया है की इसमें घुलनशील फाइबर होता है, जो कॉलेस्ट्रोल (cholestrol) के स्तर को कम करता है। इसमें मौजूद विटामिन इ हृदय को तंदरुस्त रखता है। ओट्स का सेवन करने से यह L.D.L के ऑक्सीकरण को रोकता है।

इसे भी पढ़े :- हार्ट अटैक से बचने के उपाय

आज के समय में हृदय रोगियों को संख्या दिनों-दिन बढती जा रही है। हृदय को हेल्थी रखना चाहते हो, तो ओट्स का सेवन आज से ही शुरू कर दो। जैसा की हमने पहले भी बताया है की इसमें घुलनशील फाइबर होता है, जो कॉलेस्ट्रोल (cholestrol) के स्तर को कम करता है। इसमें मौजूद विटामिन इ हृदय को तंदरुस्त रखता है। ओट्स का सेवन करने से यह L.D.L के ऑक्सीकरण को रोकता है।

4. ओट्स खाने के फायदे कैंसर से लड़ने में है लाभदायक Oats Help Fight Cancer in Hindi

Oats in Hindi :- आपको जानकर हैरानी होगी की ओट्स कैंसर जैसी समस्या से लड़ने में मददगार होता है। क्यूंकि इसमें प्रचुर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। इसमें फाइटोकेमिकल्स (Phytochemicals) की मात्रा अन्य सब्जियों के मुकाबले अधिक होती है। और कुछ अध्ययनों में यह माना गया है की फाइटोकेमिकल्स कैंसर को रोकने में सहायक होता है।

5. ओट्स खाने के फायदे उच्च रक्तचाप को दूर करने में – Oats Help Treat Hypertension in Hindi

ओट्स खाना बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके सेवन से डायस्टोलिक बी.पी. लगभग 5.5 पॉइंट तक कम हो जाता है। और तो और सिस्टोलिक बी.पी. 7.5 पॉइंट तक कम हो जाता है। इसीलिए अपने रोजाना के आहार में ओट्स को जरुर शामिल करें।

यह भी जरुर पढ़ना :- हाई बीपी का उपचार

6. ओट्स का फायदे पाचनतंत्र की समस्या में – Oats ke fayde

अगर आप पाचनतंत्र को हेल्थी रखना चाहते हो, तो ओट्स को अपने आहार में अवश्य शामिल करना। चूँकि ओट्स में मिलने वाला अघुलनशील फाइबर पाचनतंत्र को मजबूत बनाता है। जो लोग गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स (G.E.R. D.) से ग्रसित है, उन्हें ओट्स का सेवन जरुर करना चाहिए। साथ ही साथ यह कब्ज के इलाज में भी सहायक होता है।

7. ओट्स के फायदे, त्वचा की समस्या में – Oats in Hindi

पिम्पल की समस्या :- पिम्पल का अगर प्राकृतिक इलाज खोज रहे है, तो ओट्स आपके लिए सही है। इसका इस्तेमाल करें और पिम्पल / मुहांसे की समस्या से छुटकारा पाए। ओटामिल को 15 से 20 मिनट तक उबालकर इसका लेप बना लें। ठंडा करके इस लेप चेहरे पर 10 मिनट तक लगाए और फिर अच्छे से धो लें। ऐसा करने से त्वचा में मौजूद अतिरिक्त तेल निकल जायेगा।

ड्राई त्वचा की समस्या में :- ओट्स शरीर के साथ-साथ त्वचा के लिए भी लाभकारी होता है। रुखी स्किन वालों को ओट्स का इस्तेमाल करना चाहिए। यह त्वचा में नमी प्रदान करता है और रूप भी निखारता है। सबसे पहले पिसा हुआ ओट्स चूर्ण और पका केला लें। अब दोनों को थोड़ी सी गाय के दूध के साथ अच्छे से मिला लें। अब इस मिश्रण को चेहरे पर लगाए और लगभग 15 मिनट के लिए छोड़ दें। उसके बाद चेहरे को धो लें।

8. ओट्स के फायदे, बालों की समस्या में – Benefits of Oats in Hindi

रुसी की समस्या :- ओटामिल को अपने बालों में नहाने से पूर्व जरुर लगाए। यह रुसी (Dandruff) की समस्या में लाभकारी होता है। यह सिर में जमी गंदगी और तेल को निकालने का काम करता है।

बाल झड़ने की समस्या :- ओटामिल हेयर मास्क अपने बालों में जरुर लगाए, यह बाल झाड़ने की समस्या से छुटकारा दिलाता है। गाय और बादाम का दूध में लगभग 1 चम्मच ओटामिल पाउडर मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को बालों में अच्छे से लगाए और फिर बालों को सुलझा लें। अब इसे 18 से 20 मिनट तक रहने दें। फिर हल्का गुनगुना पानी से बालों को अच्छे से धो लें। इससे आपके बाल जड़ो से मजबूत होंगे।

इसे भी पढ़े :- बाल झड़ने की समस्या का इलाज

9. ओट्स के फायदे, चिकन पॉक्स की समस्या में – Oats Benefits in Hindi

हजारो वर्षो पहले से ओटामिल का उपयोग त्वचा संक्रमण के इलाज में किया जाता था। इसमें प्रचुर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है। जो खुजली और सुजन की समस्या को कम करने में प्रभावी होता है। चूँकि चिकन पॉक्स होने पर शरीर में खुजली होने लगती है। इसीलिए इसका इस्तेमाल करना बेहतर होता है।

यह भी पढ़े :- चिकेन पॉक्स का घरेलु उपचार

10. ओट्स के फायदे, कब्ज की समस्या में – Oats ke Fayde

Oats in Hindi :- जिन लोगो को कब्ज की शिकायत रहती है। उन लोगो को नाश्ते में ओट्स का इस्तेमाल अवश्य करना चाहिए। इसमें मौजूद फाइबर आँतों के लिए फायदेमंद होता है। जिसके कारण आंत अपना नियमित कार्य करता है। और तो और ओट्स में पाया जाने वाला फाइबर पानी में नहीं घुलता है। जिससे यह फाइबर मल को भरी बनाकर बाहर निकालने का काम करता है।

ओट्स खाने के नुकशान | Oats Side Effects in Hindi

1. फायदे और नुकशान हर सिक्के के दो पहलु होते है। उसी तरह ओट्स के कुछ फायदे है तो उसके कुछ नुकशान भी हो सकता है। तो चलिए जानते है उन नुकशान के बारे में।

2. कुछ ओट्स कृत्रिम पदार्थों से बने होते है। और उनमें शुगर की मात्रा भी काफी ज्यादा होती है। इसीलिए

उम्मीद है आपको यह लेख उपयोगी लगा होगा। आपका कोई प्रश्न या सुझाव हो, तो हमे जरुर कमेंट करें। ऐसे ही मजेदार आयुर्वेद और घरेलु उपचार से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें। इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। निचे दिए गए बटन को दबाकर अपने ट्वीटर, फेसबुक और गूगल प्लस अकाउंट पर शेयर करे।

[धन्यवाद]

  • Facebook
  • Twitter
  • Google+
  • Linkedin
  • Pinterest
  • stumbleupon
  • Reddit

2 Comments

  1. आपका जौं पर लिखा लेख पढ़ कर अच्छा लगा, बहुत अच्छी जानकारी दी गई है इस लेख में, इतने साफ़ सुथरे व ज्ञान वर्धक लेख सभी लोगों को पड़ने चाहिए, ऐसे ही लिखते रहे और बढ़ते रहे धन्यवाद ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This div height required for enabling the sticky sidebar
error: Content is protected !!